केरल की राजधानी क्या है और इससे जुड़ी पूरी जानकारी | Keral Ki Rajdhani Kya Hai

केरल भारत के दक्षिण-पश्चिम में स्थित एक राज्य है। केरल अपनी खूबसूरत तटरेखा, लघु तटीय नदियों, सुंदर पहाड़ों और घने जंगलों के लिए जाना जाता है। केरल अपनी विविधता के लिए भी जाना जाता है। भारत का सबसे शिक्षित राज्य केरल को माना जाता है केरल की साक्षरता दर लगभग 96.2% है जो की अन्य सभी राज्यों के तुलना में सबसे अधिक है। केरल राज्य अरब सागर के तट पर स्थित है। केरल में काफी सारे सुंदर सुंदर समुद्रीय तट है। केरल एक बहुत ही खुबसूरत प्राकृतिक सौंदर्य से भरा हुआ राज्य है जहाँ हर साल लाखो प्रयटक इसके खूबसूरती का दीदार करने आते है।

आज हम “केरल की राजधानी क्या है” यानि के इस आर्टिकल में जानने वाले है की “keral ki rajdhani kya hai” साथ ही आज हमलोग kerala ki rajdhani के बारे में जानने के साथ साथ keral ki rajdhani के बारे में पूरा जानकारी जानने वाले है जैसे केरल की राजधानी (kerala ka capital) का भौगोलिक जानकारी, ऐतिहासिक जानकारी, प्रमुख पर्यटन स्थल आदि के बारे में विस्तार में जानने वाले है। तो चलिए सबसे पहले यह जानते है की केरल की राजधानी कहां है? (What is the capital of kerala in hindi)

केरल की राजधानी क्या है (Keral Ki Rajdhani Kya Hai)

केरल की राजधानी “तिरुवनन्तपुरम” है।

राज्य का नामकेरल
केरल की राजधानीतिरुवनन्तपुरम
केरल के मुख्यमंत्रीपिनाराई विजयन
केरल के राज्यपालआरिफ मोहम्‍मद खान

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम के बारे में जानकारी

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम, जिसे त्रिवेंद्रम भी कहा जाता है, भारत के दक्षिण-पश्चिमी क्षेत्र में स्थित है। यह शहर केरल का केन्द्रीय राज्य एवं केरल के तटीय क्षेत्र का एक महत्वपूर्ण शहर है।

तिरुवनन्तपुरम एक पुराना शहर है जिसकी उत्पत्ति लगभग 1000 ईसा पूर्व से हुई थी। यह शहर प्राचीन दक्षिण भारतीय संस्कृति का केंद्र रहा है। इसके अलावा, यह शहर अपने हस्तशिल्प और शैलीशील्प के लिए भी जाना जाता है।

तिरुवनन्तपुरम शहर का नाम संस्कृत शब्द “तिरु” जो श्री के लिए उपयोग में आता है, “अनंत” जो अनंतता को दर्शाता है और “पुरम” जो शहर को दर्शाता है, से मिलकर बना है। शहर के कई पुराने मंदिर, चरखा, वेश्यालय, बैंक, शौचालय, नाकाशाला आदि उल्लेखनीय स्थान हैं।

तिरुवनन्तपुरम के पास कई सुंदर तट हैं जैसे की कोवलम, चोव्वरा, शंकुमुखम आदि। ये स्थल आराम से घूमने और समुद्र तट का आनंद लेने के लिए जाने जाते हैं। इसके अलावा, तिरुवनन्तपुरम एक शॉपिंग केंद्र के रूप में भी जाना जाता है, जहां से आप स्थानीय कलाकारों की विभिन्न कलाओं, परिधान और स्थानीय खाद्य आदि को खरीद सकते हैं। भारत के अन्य राज्यों की राजधानी क्या है यहाँ से जाने।

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम की भौगोलिक जानकारी

तिरुवनन्तपुरम केरल के दक्षिण-पश्चिमी भाग में स्थित है। यह भारत में अरब सागर के किनारे स्थित है। इसके उत्तर में कोच्चि और पश्चिम में अरब सागर है। समुद्र स्तर से तिरुवनन्तपुरम की ऊँचाई करीब 10 मीटर के आसपास है।

तिरुवनन्तपुरम का क्षेत्रफल करीब 214.86 वर्ग किलोमीटर है। यह एक समृद्ध और उपजाऊ इलाका है जहां उच्च तटबंध नहर के माध्यम से फसलों की सिंचाई की जाती है। यहां का मौसम सामान्य रूप से उष्णकटिबंधीय होता है, यहाँ मई से अगस्त तक वर्षा के दौरान बारिशों होता है। शीत ऋतु में यहाँ का तापमान 20 डिग्री सेल्सियस से नीचे नहीं जाता है जबकि गर्मियों में तापमान 35 डिग्री सेल्सियस तक पहुँचता है। तिरुवनन्तपुरम की कुल जनसंख्या लगभग 36 लाख के करीब है।

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम की ऐतिहासिक जानकारी

तिरुवनन्तपुरम एक प्राचीन शहर है जिसकी उत्पत्ति लगभग 1000 ईसा पूर्व से पहले हुई थी। तिरुवनन्तपुरम के इतिहास में कई धार्मिक, सांस्कृतिक और सामाजिक घटनाएं शामिल हैं। यह समृद्ध ऐतिहासिक और सांस्कृतिक विरासत का एक महत्वपूर्ण केंद्र है।

तिरुवनन्तपुरम एक प्राचीन नगर है जो कि हिंदू धर्म का एक महत्वपूर्ण केंद्र रहा है। इस शहर में कई प्राचीन मंदिर हैं जैसे कि श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर, श्री परम्पदम मंदिर, श्री चेत्तिकुलंगर महादेव मंदिर आदि। श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर शहर का सबसे प्रसिद्ध और भारत के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है।

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम के प्रमुख पर्यटन स्थल

श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर, तिरुवनन्तपुरम

श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर, तिरुवनन्तपुरम

Picture Credit: Sree Padmanabhaswamy Temple thiruvananthapuram

श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर तिरुवनन्तपुरम में स्थित है और यह भारत के सबसे प्राचीन मंदिरों में से एक है। यह मंदिर हिंदू धर्म का महत्वपूर्ण स्थान है और इसे त्रिवेंद्रम मंदिर भी कहा जाता है।

इस मंदिर की नींव मूल रूप से केरल के चेरा राजवंश के शासकों द्वारा रखी गई थी और इसका विस्तार उनके शासनकाल में हुआ था। इस मंदिर का निर्माण भी चेरा राजवंश द्वारा कराया गया था।

श्री पद्मनाभस्वामी मंदिर का मुख्य देवता श्री पद्मनाभस्वामी हैं, जो विष्णु के एक रूप हैं। मंदिर के गोपुरम की ऊँचाई करीब 170 फीट है और इसके भीतर स्थित मूर्तियों में से सबसे महत्वपूर्ण मूर्ति श्री पद्मनाभस्वामी की है। इस मंदिर में कुछ दुर्लभ रत्नों के साथ-साथ सोने और चांदी के कई प्रतिमाएं भी हैं।

नेपियर संग्रहालय, तिरुवनन्तपुरम

नेपियर संग्रहालय, तिरुवनन्तपुरम

Picture Credit: Napier Museum thiruvananthapuram

नेपियर संग्रहालय तिरुवनन्तपुरम का एक प्रमुख पर्यटन स्थल में से एक है। जो केरल के इतिहास, संस्कृति, फोल्कलोर, औषधीय पौधों और जानवरों के विषय में जानकारी प्रदान करता है।

नेपियर संग्रहालय के नाम का अर्थ है “केरल राज्य के पूर्वी और पश्चिमी घाटों के बीच नेपियर नदी की खोज”

यह संग्रहालय ब्रिटिश शासनकाल के समय 1885 के आसपास बनाया गया था। यह संग्रहालय दक्षिण भारत के सबसे पुराने संग्रहालयों में से एक है।

इस संग्रहालय में मौजूद अधिकतर सामान अंग्रेजों द्वारा इकट्ठा किए गए हैं, लेकिन इसमें कुछ महत्वपूर्ण स्थानों से भी प्राप्त कलाकृतियाँ भी शामिल हैं।

संग्रहालय में शामिल विभिन्न प्रकार की सामानो में जैविक विविधता, स्थलीय संस्कृति, कला, उद्योग, वस्तुएँ और धातु कला शामिल हैं।

अट्टुकल भगवती मंदिर, तिरुवनन्तपुरम

अट्टुकल भगवती मंदिर, तिरुवनन्तपुरम

Picture Credit: Attukal Bhagavathy Temple thiruvananthapuram

अट्टुकल भगवती मंदिर तिरुवनन्तपुरम शहर में स्थित है। यह मंदिर केरल के सबसे प्रसिद्ध देवी मंदिरों में से एक है और उत्तर केरल में स्थित एकमात्र मंदिर है जिसमें देवी भगवती की पूजा की जाती है।

मंदिर का इतिहास काफी पुराना है। इसे 14वीं शताब्दी में बनाया गया था। मान्यता है कि देवी भगवती ने स्वयं मंदिर का निर्माण अपने इच्छाशक्ति का उपयोग करके किया था।

यह मंदिर वास्तुकला की दृष्टि से बहुत सुंदर है और उसमें अनेक स्तंभ और वास्तुकला के उदाहरण हैं। मंदिर के पीछे एक तालाब है जो इसे और भी खूबसूरत बनाता है।

मंदिर में दिन के अलग-अलग समय पर अलग-अलग पूजाएं होती हैं और समय-समय पर विभिन्न उत्सव भी मनाए जाते हैं। यहां के प्रसिद्ध उत्सवों में अट्टुकल पोंगाल, मन्गल दीप, नवरात्रि और दुर्गा पूजा शामिल हैं।

नीचे दिए गए टेबल सूचि में आप राज्य – राजधानी से जुड़े अन्य आर्टिकल पढ़ सकते है।

1आंध्र प्रदेश की राजधानी क्या है
2अरुणाचल प्रदेश की राजधानी क्या है
3असम की राजधानी क्या है
4बिहार की राजधानी कहां है
5छत्तीसगढ़ की राजधानी क्या है
6गोवा की राजधानी क्या है
7गुजरात की राजधानी क्या है
8हरियाणा की राजधानी कहां है
9हिमाचल प्रदेश की राजधानी क्या है
10झारखंड की राजधानी कहां है
11कर्नाटक की राजधानी क्या है

केरल की राजधानी कहां है?

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम है।

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम का क्षेत्रफल कितना है?

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम का क्षेत्रफल करीब 214.86 वर्ग किलोमीटर है।

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम का जनसंख्या कितना है?

केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम का जनसंख्या लगभग 36 लाख के करीब है।

केरल की राजधानी क्या है? के इस आर्टिकल में आज हमने जाना की केरल की राजधानी तिरुवनन्तपुरम है। आशा करता हूँ की आपको यह आर्टिकल काफी अच्छा और जानकारीपूर्ण लगा होगा। आप इस आर्टिकल से जुड़े अपने विचार कमेंट के द्वारा हमसे साझा कर सकते है। साथ ही इस आर्टिकल को अपने यार दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे। 

केरल की राजधानी क्या है (Keral Ki Rajdhani Kya Hai) के इस आर्टिकल को अपना प्यार और सपोर्ट देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment