About Butterfly in Hindi | तितली के बारे में रोचक तथ्य

About butterfly in hindi | तितली के बारे में रोचक तथ्य | butterfly in hindi | तितली के बारे में जानकारी | butterfly hindi | life cycle of butterfly in hindi | titli ka jeevan chakra | titli in hindi

About butterfly in hindi :- तितली एक बेहत सुंदर और आकर्षक जीव है अक्सर हमे अपने घरो के आसपास या बगीचा में कई सारे तितलियां दिखाई देते है। तितलियाँ कई रंगों के होते है रंग बिरंगी तितली बड़ी प्यारी लगती है इसके पर बड़े ही सुंदर होते है जिसे देख कर हर किसी का नजर इसके ओर आकर्षित होता है। आपने भी शायद बचपन में तितली को पकड़ने के लिए घंटो तितली के पीछे भागे होंगे। हमे आज कल भी बच्चो को तितली के पीछे भागते हुए दिख जाते है। सिर्फ बच्चे ही नहीं हर उम्र के लोगो को तितलियाँ काफी पसंद होते है यदि आपको भी तितलियाँ पसंद है तो इस About Butterfly in Hindi के आर्टिकल में आपको तितलियोंं के बारे में ऐसे अनेको रोचक तथ्यों के बारे में जानने को मिलेंगे जो इससे पहले शायद ही आपने कभी पढ़ा या सुना होगा।

Butterfly Meaning in Hindi

Butterfly को हिंदी में तितली कहा जाता है यानी तितली को ही अंगेजी में Butterfly कहा जाता है। वही तितली को संस्कृत में चित्रपतङ्गाः कहा जाता है। तितली आर्थ्रोपोडा (Arthropoda) जीव समूह के अंतर्गत आते है और इसका कोई वेज्ञानिक नाम नहीं है।

नाम तितली
तितली का अंग्रेजी नामButterfly
तितली का संस्कृत नामचित्रपतङ्गाः
जंतु वर्गआर्थ्रोपोडा (Arthropoda)

20 Interesting Facts About Butterfly in Hindi (तितली के बारे में 20 रोचक तथ्य)

  1. तितली एक बेहत खुबसूरत और आकर्षक किट वर्ग का एक जीव है इसके दो जोड़े पंख और तीन जोड़े पैर होते हैं इसके पंख बहुत ही सुंदर रंग बिरंगी होते है। 
  1. तितली के सर पर दो छोटे छोटे आँख और मुँह में घड़ी के स्प्रिंग की तरह खोखली लम्बी सूँड़नुमा जीभ होती है जिसे “प्रोवोसिस” कहा जाता है।
  1. तितलियाँ सुन नही सकती यह बहरी होती है लेकिन ये कंपन को महसूस कर सकती है तितली के सिर के आगे दो एन्टिना होता है जिससे वह किसी वास्तु का कंपन या सुगंध का पता लगाती है तितली हर प्रकार की गंध सुंघ सकती है।
  1. अन्य जीवो के मुकाबले तितली की देखने की क्षमता काफी ज्यादा होती है। तितली की आँखों में 6000 लेंस होता है जिस कारण यह अल्ट्रावायलेट किरणों को भी देख सकती हैं। 
  1. तितली की आँखों में 6000 लेंस होने के बावजूद भी तितली बस लाल हरा और पीला रंग ही देख सकती है।
  1. तितली के पंख असल में पारदर्शी होते हैं। जो रंग और पैटर्न हमे तितली के पंखों में दिखाई देता हैं वह दरअसल पंखों की पतली परत में प्रकाश के परावर्तन के कारण होता है।
  1. एक तितली का जीवन चक्र चार चरणों में पूरा होता है अंडा, लार्वा, प्यूपा और व्यस्क तितली।
  1. मादा तितली अपने अंडे पत्ती की निचली सतह पर देती है। तितली एक बार में 250 से 300 के करीब अंडे देती है। कुछ दिनों बाद अण्डे से एक छोटा-सा कीट निकलता है जिसे “कैटरपिलर लार्वा” कहा जाता है। जिस अंडे से लार्वा बाहर निकलती है वह अंडा लार्वा का पहला भोजन होता है।
  1. लार्वा पौधे की पत्तियों को खाकर बड़ा होते है और फिर इसके चारों ओर एक कड़ा खोल बन जाता है। जिसे “प्यूपा” कहा जाता है कुछ समय बाद प्यूपा को तोड़कर उसमें से एक सुन्दर छोटी-सी तितली बाहर निकलती है।
  1. तितली का जीवन चक्र दो से चार हफ्तों का होता है। कुछ प्रजातियां 9 महीने तक जिंदा रहती है। मादा तितली नर तितली के मुकाबले ज्यादा दिनों तक जीवित रहती है।
  1. पूरी दुनिया में 24 हजार से भी अधिक प्रकार की तितलियाँ पाई जाती है वही भारत में लगभग 1500 प्रजाति की तितलियाँ पाई जाती है। अंटार्टिका को छोड़कर तितलियाँ दुनिया में लगभग सभी जगह पाए जाते है।
  1. तितली का मस्तिष्क बड़ा ही तीव्र होता है। तितलियां ठंडे खून वाले जीव होती है। ये तभी उड़ सकती है जब इनके शरीर का तापमान 29 डिग्री सेल्सियस से ज्यादा हो 
  1. तितली की उड़ने की क्षमता काफी अच्छी होती है यह 30 मील प्रति घंटे की गति से उड़ सकती है और अपनी उड़ान से 3000 फीट की ऊंचाई तक पहुंच सकती हैं। 
  1. दुनिया की सबसे तेज़ उड़ने वाली तितली मोनार्च है। कुछ प्रजाति की तितलियाँ बिना रुके 1000 किलोमीटर तक उड़ सकती है।
  1. मधुमक्खियों की तरह ही व्यस्क तितलियां भी फूलों से रस चूस कर जिंदा रहती हैं।
  1. तितलियां किसी भी चीज का स्वाद उसके ऊपर खड़ा होकर लगा लेती हैं क्योंकि इनके पैर में स्वाद चखने वाले सेंसर पाए जाते हैं।
  1. अमेज़न के वर्षावन में तितली अपने आहार में सोडियम की आवश्यकता को पूरा करने के लिए कछुए की आंसू को पीती है।
  1. दुनिया की सबसे बड़ी तितली जायंट बर्डविंग (Giant Birdwing) है जो सोलमन आईलैंड्स पर पाई जाती है। इस प्रजाति के मादा तितली के पंखों का फैलाव 12 इंच से भी ज्यादा होता है।
  1. भारत की सबसे बड़ी तितली गोल्डन बर्डविंग (Golden Birdwing) है जो उत्तराखंड के पिथौरागढ़ जिले पर पाई जाती है। इस प्रजाति के मादा तितली के पंखों का फैलाव लगभग 8 इंच का होता है।
  1. मोना नाम की तितली ब्राह्मण एवं पलायन के लिए जानी जाती है। यह अपने जीवन काल में 4000 किलोमीटर तक की दूरी तय करती है। 
यह भी पढ़े: कबूतर के बारे में रोचक तथ्य

तितली पर निबंध (Essay on Butterfly in Hindi)

तितली दुनिया का सबसे खुबसूरत कीड़ों में से एक है। यह एक ऐसी जीव है जो देखने में बहुत मनमोहक होती है। तितली के दो जोड़े पंख और तीन जोड़ी पैर होते हैं इसके पंख बहुत ही सुंदर रंग बिरंगी होते है। तितली के पंख असल में पारदर्शी होते हैं। जो रंग और पैटर्न हमे तितली के पंखों में दिखाई देता हैं वह दरअसल पंखों की पतली परत में प्रकाश के परावर्तन के कारण होता है। तितली के सर पर दो छोटे छोटे आँख और मुँह में घड़ी के स्प्रिंग की तरह एक खोखली लम्बी सूँड़नुमा जीभ होती है जिसे प्रोवोसिस कहा जाता है इसी से तितली फूलो का रस पीती है। तितलियाँ बहरी होती है जो सुन नही सकती लेकिन कंपन को महसूस कर सकती है तितली के सिर के आगे दो एन्टिना होता है जिससे वह किसी वास्तु का कंपन या सुगंध का पता लगाती है तितली हर प्रकार की गंध सुंघ सकती है। तितली की देखने की क्षमता अन्य जीवो के मुकाबले काफी ज्यादा होती है। तितली की आँखों में 6000 लेंस होता है जिस कारण यह अल्ट्रावायलेट किरणों को भी देख सकती हैं। तितली की आँखों में 6000 लेंस होने के बावजूद भी तितली बस लाल हरा और पीला रंग ही देख सकती है। एक तितली का जीवन चक्र चार चरणों में पूरा होता है अंडा, लार्वा, प्यूपा और फिर व्यस्क तितली। मादा तितली एक बार में 250 से 300 के करीब अंडे देती है तितली अपने अंडे पत्ती की निचली सतह पर देती है। अण्डे से कुछ दिनों के बाद एक छोटा-सा कीट निकलता है जिसे कैटरपिलर लार्वा कहा जाता है। जिस अंडे से लार्वा बाहर निकलती है वह अंडा उस लार्वा का पहला भोजन होता है। उसके बाद लार्वा पौधे की पत्तियों को खाकर बड़ा होते है और फिर इसके चारों ओर एक कड़ा सा खोल बन जाता है जिसे प्यूपा कहा जाता है कुछ समय बाद प्यूपा को तोड़कर उसमें से एक छोटी-सी सुन्दर तितली बाहर निकलती है। एक तितली का जीवन चक्र सामान्यतः दो से चार हफ्तों का होता है। कुछ प्रजाति के तितली 9 महीने तक भी जिंदा रहती है। मादा तितली नर तितली के मुकाबले ज्यादा दिनों तक जीवित रहती है। तितलियाँ बहुत ही नाजुक होती हैं जो ठंडे खून वाले जीव होती है ये तभी उड़ सकते है जब इनके शरीर का तापमान 29 डिग्री सेल्सियस से अधिक हो। अंटार्टिका को छोड़कर तितलियाँ लगभग सभी जगह पाए जाते है। पूरी दुनिया में 24 हजार से भी अधिक प्रजाति की तितलियाँ पाई जाती है वही भारत में लगभग 1500 प्रजाति की तितलियाँ पाई जाती है

यह भी पढ़े: योग पर निबंध हिंदी में

तितली का जीवन चक्र (Life cycle of butterfly in hindi)

एक तितली का जीवन चक्र चार चरणों में पूरा होता है अंडा, लार्वा, प्यूपा और व्यस्क तितली।

अंडा

तितली के जीवन का पहला चरण अंडे से शुरू होता है सबसे पहले मादा तितली पत्ते के निचले सतह पर छोटे छोटे गोलाकार अंडे देते है। साधारणतः अंडे का रंग हल्का सफ़ेद होता है। अंडे देने के लिए बाद धीरे धीरे इनका रंग बदलता जाता है जिसका मतलब है अंडों के अंदर लार्वा बनना शुरू हो गया। 4 से 5 दिनों के बाद अंडे का रंग काला हो जाता है। इसका मतलब है अंडे के अंदर लार्वा बन कर तैयार है और कभी भी अंडे के परत को तोड़कर बाहर आ सकता है। 

लार्वा

अंडे से बाहर आने के बाद यह लारवा उसी अंडे की परत को खाना शुरु कर देते हैं। अंडे को खा कर खत्म करने के बाद वह पतों को खाना शुरू कर देता है। इन पतों को खा कर लार्वा 10 से 12 दिनों में 3 सेंटीमीटर जितना बड़ा हो जाता है और इस दौरान लार्वा अपनी त्वचा को भी बदलता रहता है बिल्कुल एक सांप की तरह लार्वा इस प्रक्रिया में 4-5 बार अपनी त्वचा बदलता है और पूरे 20-25 दिनों बाद यह लारवा पूरी तरह से विकसित हो कर 5-6 सेंटीमीटर तक लंबा हो जाता है। इसके बदलती त्वचा के साथ इसका रंग भी बदलता जाता है। पूरी तरह विकसित होने  के बाद यह पत्ता खाना छोड़ देता है और अपने आप को तितली में बदलने के लिए प्यूपा का निर्माण शुरू कर देता है।

प्यूपा

लार्वा प्यूपा बनाने के लिए अपनी लार से चिपचिपा पदार्थ तैयार करता है जिसके बाद यह लार्वा अपने शरीर का पिछला हिस्सा उस चिपचिपा पदार्थ से जोड़ देता है ताकि वह पत्ती से ना गिरे। फिर लार्वा वह चिपचिपा पदार्थ से शरीर के चारों ओर एक सुरक्षित कड़ा खोल बना लेता है जिसे ही प्यूपा कहा जाता है।

व्यस्क तितली

तितली का जन्म प्यूपा से ही होता है। प्यूपा बनने के 1 महीने बाद धीरे धीरे पारदर्शी होने लगता है इसके अंदर हम तितली को भी देख सकते है। इसके बाद इसमें धीरे-धीरे हलचल होने लगती है। फिर कुछ समय बाद प्यूपा को तोड़कर उसमें से एक सुन्दर छोटी-सी तितली बाहर निकलती है। प्यूपा से बाहर आने के बाद तितली 1 घंटे में अपने पंखों को विकसित कर लेती है। और एक प्रकार एक सुंदर तितली का जन्म होता है। 

यह भी पढ़े: तोता के बारे में जानकारी

तितली के बारे में 10 वाक्य (10 lines about butterfly in hindi)

  1. तितली दुनिया का सबसे खुबसूरत कीड़ों में से एक है।
  2. तितली आर्थ्रोपोडा जंतु वर्ग का एक जीव है।
  3. तितली के पंख पारदर्शी होते हैं। जिसमे प्रकाश के परावर्तन के कारण हमे रंग बिरंगा दिखाई देता है।
  4. तितली का जीवन चक्र चार चरणों में पूरा होता है अंडा, लार्वा, प्यूपा और फिर व्यस्क तितली।
  5. मादा तितली एक बार में 250 से 300 के करीब अंडे देती है।
  6. एक तितली का जीवन चक्र सामान्यतः दो से चार हफ्तों का होता है।
  7. वयस्क तितली मधुमक्की की तरह फूलो की रस पीती है।
  8. तितली की आँखों में 6000 लेंस होता है।
  9. तितली सिर्फ लाल हरा और पीला रंग ही देख सकती है।
  10. दुनिया में 24 हजार से भी अधिक वही भारत में लगभग 1500 प्रजाति की तितलियाँ पाई जाती है।
यह भी पढ़े: सभी रंगों के नाम संस्कृत में

FAQ About Butterfly in Hindi (तितली से जुड़े प्रश्न उत्तर)

प्रश्न- तितली को अंग्रेजी में क्या कहा जाता है?
उत्तर- तितली को अंग्रेजी में Butterfly कहा जाता है।

प्रश्न- तितली को संस्कृत में क्या कहते है?
उत्तर- तितली को संस्कृत में चित्रपतङ्गाः कहते हैं।

प्रश्न- तितली किस जंतु वर्ग में आते है?
उत्तर- तितली आर्थ्रोपोडा जंतु वर्ग में आते है।

प्रश्न- तितली का खून कैसा होता है? 
उत्तर- तितली ठंडे खून का होता है? 

प्रश्न- तितलियोंं के कितने पंख होते हैं ?
उत्तर- सामान्यतः तितलियोंं के दो पंख होते हैं।

प्रश्न- तितली का पंख रंग बिरंगा क्यों होता है?
उत्तर- तितली के पंख असल में पारदर्शी होते हैं। जिसमे प्रकाश के परावर्तन के कारण हमे रंग बिरंगी दिखाई देती है।

प्रश्न- तितली का जीवन चक्र कैसा होता है?
उत्तर- तितली का जीवन चक्र चार चरणों में होता है अंडा, लार्वा, प्यूपा और फिर व्यस्क तितली।

प्रश्न- तितली का जीवन चक्र कितने समय का होता है?
उत्तर- तितली का जीवन चक्र दो से चार हफ्तों का होता है। 

प्रश्न- तितली के लार्वा का पहला भोजन क्या होता है। 
उत्तर- तितली के लार्वा का पहला भोजन उसका अंडा का छिलका ही होता है।

प्रश्न- तितलीयां अंडे कहा देती है?
उत्तर- तितलीयां हमेशा पत्तों के नीचले सतह पर अंडे देती है।

प्रश्न- तितली के आँखों में कितने लेंस होते है? 
उत्तर- तितली के आँखों में 600 लेंस होते है।

प्रश्न- तितलियों को कौन सा रंग दिखाई देता है? 
उत्तर- तितलियों को सिर्फ लाल हरा और पीला रंग ही दिखाई देता है।

प्रश्न- तितलियों की कितनी प्रजातियाँ पाई जाती है? 
उत्तर- पूरे विश्व में 24 हजार से भी अधिक वही भारत में लगभग 1500 प्रजाति की तितलियाँ पाई जाती है।।

प्रश्न- तितली का खून कैसा होता है?
उत्तर- तितली ठंडे खून का जीव होता है।

प्रश्न- भारत में तितलियों की कितनी प्रजातियां पाई जाती है?
उत्तर-भारत में तितलियों की लगभग 1500 प्रजातियां पाई जाती है।

प्रश्न- तितली क्या खाती है?
उत्तर- तितलियां फूलों का रस खाती है।

प्रश्न- भारत की सबसे बड़ी तितली का नाम क्या है?
उत्तर- गोल्डन बर्डविंग (Golden Birdwing) भारत की सबसे बड़ी तितली है।

प्रश्न- दुनिया की सबसे बड़ी तितली का नाम क्या है?
उत्तर- जायंट बर्डविंग (Giant Birdwing) दुनिया की सबसे बड़ी तितली है।

यह रहा About Butterfly in Hindi यानी तितली के बारे में रोचक तथ्यों की जानकारी, आशा करता हूँ की आपको butterfly in hindi का यह जानकारी अच्छा लगा है यदि आपको यह अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल भी ना भूले।

यह भी पढ़े: ई-लर्निंग क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में
यह भी पढ़े: पीलिया के बारे में पूरी जानकारी

About Butterfly in Hindi का यह आर्टिकल पूरा पढ़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment