Information About Lotus in Hindi | कमल का फूल

Information about lotus in hindi | कमल का फूल की जानकारी | lotus flower in hindi | कमल के फूल पर निबंध | essay on lotus in hindi | कमल पर्यायवाची शब्द | kamal paryayvachi shabd | lotus meaning in hindi | 10 lines on lotus in hindi | कमल फूल के बारे रोचक तथ्य

Information About Lotus in Hindi:- कमल हमारे देश का राष्ट्रीय फूल है। कमल का फूल बहुत सुंदर होता है। कमल का फूल कीचड़ या दलदल वाले भागों में ही खिलता है। कमल का फूल मुख्यतः गुलाबी, सफेद, लाल, पीले रंगों में पाया जाता है। कमल का फूल सुंदरता, शुद्धता, अनुग्रह, ज्ञान आदी का प्रतिक है। भारत मे कमल के फूल को ‘इंडियन लोटस’ या ‘सेक्रेड लोटस’ भी कहा जाता है। Information about lotus in hindi के इस आर्टिकल में आज हमलोग कमल फूल के बारे में काफी सारे रोचक तथ्यों के बारे में जानने वाले है जिसके बारे में शायद ही आपको पता होगा।

Lotus meaning in hindi

Flower NameLotus
Lotus meaning in hindiकमल
कमल का संस्कृत नामकुमुदम्
कमल का वैज्ञानिक नामनीलंबियन न्यूसिफ़ेरा (Nelumbo Nucifera)

Lotus का हिंदी में अर्थ कमल होता है यानी कमल का फूल को ही अंग्रेजी में Lotus कहा जाता है। संस्कृत में कमल के फूल को कुमुदम् कहा जाता है। कमल फूल का वैज्ञानिक नाम नीलंबियन न्यूसिफ़ेरा (Nelumbo Nucifera) होता है।

कमल पर्यायवाची शब्द (kamal paryayvachi shabd)

पद्म, नीरज, पंकज, पंकरुह, सरसिज, सरोज, सरोरुह, सरसीरुह, पुंडरीक, जलज, जलजात, अंबुज, वारिज, अंभोरुह, अंभोज, अब्ज, अरविंद, नलिन, उत्पल, इंदीवर, कुवलय, वनज, तामरस आदि

Information About Lotus in Hindi (कमल का फूल के बारे में 20 रोचक तथ्य)

  1. कमल, भारत का राष्ट्रीय फूल है। कमल का फूल बहुत ही सुंदर होता है।
  2. कमल एक जलीय पुष्प है जो कीचड़ या दलदल वाले जगहों में खिलता है। 
  3. कमल का फूल तालाब, पोखर, झील आदि जगहों में पाया जाता है।
  4. कमल का पत्तियाँ गोल थाली आकार का होता है जो पानी के सतह में तैरता है। कमल की पत्ती को पुरइन कहा जाता है।
  5. कमल का फूल पत्तियाँ के ऊपर पानी के बहार होते है। कमल का फूल बहुत की कोमल होती है।
  6. कमल का तना लंबा, पतला और खोखला होता है जिसे डंठल कहा जाता है और इसकी जड़े पानी के अंदर मिट्टी में होता है।
  7. कमल सामान्यतः गुलाबी, सफेद, लाल, पीले रंगों में पाया जाता है। 
  8. कमल का फूल सूर्योदय के साथ खिलता है और सूर्यास्त होने के साथ ही यह मुरझा जाता है।
  9. कमल के फूल का जीवन काल लगभग तीन दिनों का होता है।
  10. कमल का फूल चैत बैसाख माह से खिलना शुरू होता है और सावन भादों माह तक खिलता है।
  11. कमल एक पवित्र फूल है। प्राचीन भारत की पौराणिक कथाओं में इसका एक अनूठा स्थान रहा है।
  12. कमल का फूल धन की देवी माँ लक्ष्मी का आसन है साथ ही ब्रह्मा जी भी कमल के फूल पे विराजमान रहते है।
  13. कमल का फूल सुंदरता, शुद्धता, अनुग्रह, ज्ञान, धन, वैभव, समृधि आदी का प्रतिक है। 
  14. कमल का फूल का इस्तेमाल पूजा पाठ में किया जाता है साथ ही यह सजावट में भी काम आता है।
  15. कमल मूल रूप से एक भारतीय फूल है किन्तु आजकल यह चीन, जापान, ऑस्ट्रेलिया, वियतनाम, मिस्र और उष्णकटिबंधीय अमेरिका आदि जैसे देशों में भी पाया जाता है।
  16. भारत के अलावा कमल, वियतनाम देश का भी राष्ट्रीय फूल है।
  17. कमल के तना यानी डंठल को तोड़ने से महीन रेशा निकलता है जिसका इस्तेमाल मंदिरों में द्वीप जलाने में किया जाता है।
  18. कमल के डंठल के महीन रेशा से वस्त्र भी बनाए जाते है जो साधारण वस्त्र से 10 गुणा महंगे होते है।
  19. भारत मे कमल के फूल को ‘इंडियन लोटस’ या ‘सेक्रेड लोटस’ भी कहा जाता है।
  20. भारत में बहुत सारे लोग कमल की खेती करते है और इससे अपना आजीविका अर्जित करते है।
यह भी जाने: फूलों के नाम संस्कृत में

कमल के फूल पर निबंध (Essay About Lotus in Hindi)

कमल फूल भारत का राष्ट्रीय फूल है। कमल बहुत ही सुंदर और आकर्षक फूल होता है। कमल एक जलीय फूल है जो दलदल और कीचड़ भरी जगहों में जैसे तालाब, पोखर, झील आदि जगहों में पाया जाता है। ज्यादातर कमल का फूल गुलाबी और सफ़ेद रंग में पाया जाता है। कमल के फूल का जड़े पानी के अंदर मिट्टी में दबे होते है जिसमे से एक पतली लंबी सी खोखली तना जिसे डंठल कहा जाता है जो पानी से होता हुआ बाहर निकलता है कमल के एक पौधा में 2 से 4 पत्तियाँ होती है जो पानी के सतह में तैरती है कमल की पत्ती को पुरइन कहा जाता है जो गोल थाली के आकार का होता है। डंठल के सबसे ऊपरी सिरा में कमल का फूल होता है जो पत्तियों से 2-4 उंगलियां ऊपर पानी के बाहर होता है। कमल के एक फूल में 20 से लेकर 70 पंखुडियां होते है। कमल का फूल बहुत ही कोमल और नाजुक होते है। कमल का फूल मार्च महीने से खिलना शुरू होता है और अगस्त महीने तक खिलता है। कमल का फूल सुबह सूर्योदय के साथ खिलता है और दिन भर खिलता रहता है और शाम को सूर्यास्त होने के साथ ही यह मुरझा जाता है। एक कमल के फूल का जीवन काल लगभग तीन से चार दिनों का होता है। कमल फूल को सुंदरता, शुद्धता, अनुग्रह, ज्ञान, धन, वैभव, समृधि आदी का प्रतिक माना जाता है। प्राचीन समय से ही कमल भारतीय संस्कृति से जुड़ा हुआ है कमल फूल धन की देवी माँ लक्ष्मी का आसन है साथ ही ब्रह्मा जी भी कमल के फूल पे विराजमान रहते है जिस कारण कमल के फूल को बहुत ही पवित्र फूल माना जाता है और इसका इस्तेमाल पूजा पाठ में किया जाता है साथ ही विभिन्न प्रकार के सजावट में भी कमल फूल का इस्तेमाल किया जाता है। कमल का फूल मूल रूप से एक भारतीय फूल है किन्तु आजकल यह चीन, जापान, ऑस्ट्रेलिया, वियतनाम, मिस्र और उष्णकटिबंधीय अमेरिका जैसे आदि देशों में भी पाया जाता है।

यह भी पढ़े: तितली के बारे में रोचक तथ्य

10 वाक्य कमल फूल पर (10 lines on lotus in hindi)

  1. कमल फूल भारत का राष्ट्रीय फूल है।
  2. कमल एक बहुत ही सुंदर और मनमोहक फूल है।
  3. कमल फूल दलदल और कीचड़ वाले जगहों जैसे तालाब, पोखर, झील आदि में पाया जाता है।
  4. कमल का फूल मार्च से अगस्त महीने तक खिलता है।
  5. सूर्योदय के साथ कमल का फूल खिलता है और सूर्यास्त होने के साथ ही यह मुरझा जाता है।
  6. कमल फूल का जीवन काल लगभग 3 से 4 दिनों का होता है।
  7. कमल फूल माँ लक्ष्मी का आसन है साथ ही ब्रह्मा जी भी कमल के फूल पे विराजमान रहते है।
  8. कमल का फूल बहुत ही पवित्र फूल होता है और इसका इस्तेमाल पूजा अर्चना में किया जाता है।
  9. कमल फूल को विभिन्न प्रकार के सजावट में भी इस्तेमाल किया जाता है।
  10. कमल के फूल को सुंदरता, शुद्धता, ज्ञान, धन, वैभव, समृधि, अनुग्रह आदी का प्रतिक माना जाता है।

कमल फूल का महत्व

प्राचीन समय से ही कमल फूल भारतीय संस्कृति से जुड़ा हुआ है। हिन्दू धर्म में कमल फूल का महत्व काफी गहरा है कमल फूल धन की देवी माँ लक्ष्मी का आसन है और माँ लक्ष्मी अपने एक हाथ में कमल का फूल लिए रहते हैं साथ ही भगवान ब्रह्मा जी भी कमल के फूल पे विराजमान रहते है जिस कारण से कमल के फूल को बहुत ही पवित्र फूल माना जाता है और इसका इस्तेमाल विभिन्न प्रकार के पूजा पाठ में किया जाता है। कमल के तना यानी डंठल को तोड़ने से इसमें से महीन रेशा निकलता है जिसका इस्तेमाल मंदिरों में द्वीप जलाने में किया जाता है। कमल भारत का राष्ट्रीय फूल है। कमल को पुष्पराज भी कहा जाता है। कमल फूल को सुंदरता, शुद्धता, ज्ञान, धन, समृधि, अनुग्रह, वैभव आदी का प्रतिक माना जाता है।

यह भी जाने: संस्कृत में गिनती 1 से 100 तक

FAQ About Lotus in Hindi (कमल फूल से जुड़ा प्रश्न उत्तर)

प्रश्न- कमल का वैज्ञानिक नाम क्या है?
उत्तर- कमल का वैज्ञानिक नाम “नीलंबियन न्यूसिफ़ेरा” है।

प्रश्न- कमल को संस्कृत में क्या कहते है?
उत्तर- कमल को संस्कृत में कुमुदम् कहते है।

प्रश्न- कमल का पर्यायवाची शब्द क्या है?
उत्तर- पद्म, नीरज, पंकज, पंकरुह, सरसिज, सरोज, सरोरुह, सरसीरुह, पुंडरीक, जलज, जलजात, अंबुज, वारिज, अंभोरुह, अंभोज, अब्ज, अरविंद, नलिन, उत्पल, इंदीवर, कुवलय, वनज, तामरस आदि कमल का पर्यायवाची शब्द  है।

प्रश्न- कमल का फूल किस रंग में होता है?
उत्तर-कमल का फूल लाल, गुलाबी, सफ़ेद, पीला रंग में होता है।

प्रश्न- भारत के अलावा कमल और किस देश का राष्ट्रीय फूल है?
उत्तर-भारत के अलावा कमल, वियतनाम देश का भी राष्ट्रीय फूल है।

प्रश्न- कमल किन किन देशों में पाये जाते हैं?
उत्तर- कमल भारत, चीन, जापान, ऑस्ट्रेलिया, वियतनाम, मिस्र और उष्णकटिबंधीय अमेरिका जैसे आदि देशों में  पाया जाता है।

प्रश्न- कमल फूल किस महीने मे खिलता है?
उत्तर- कमल फूल मार्च से अगस्त महीने मे खिलता है।

प्रश्न- कमल फूल को पवित्र क्यों माना जाता है?
उत्तर- कमल फूल माँ लक्ष्मी का आसन है साथ ही ब्रह्मा जी भी कमल के फूल पे विराजमान रहते है इसलिए कमल फूल को पवित्र क्माना जाता है।

प्रश्न- कमल फूल का जीवन काल कितना दिन का होता है?
उत्तर- कमल फूल का जीवन काल 3 से 4 दिन का होता है।

भारत का राष्ट्रीय फूल क्या है?

भारत का राष्ट्रीय फूल कमल‌ है।

कमल का फूल किसका प्रतीक है?

कमल का फूल सुंदरता, शुद्धता, ज्ञान, धन, वैभव, समृधि, अनुग्रह आदी का प्रतिक है।

कमल का फूल कहां खिलता है?

कमल तालाबों, पोखरों, झीलों के दलदली और कीचड़ भरी जगहों में खिलता है।

कमल का फूल कब खिलता है?

कमल का फूल सूर्योदय के साथ खिलता है और सूर्यास्त होने के साथ ही यह सिकुड़ जाता है।

तो यह रहा information about lotus in hindi की पूरी जानकारी जिसमे हमने कमल का फूल के बारे में जानकारी के साथ साथ कमल पर्यायवाची शब्द (kamal paryayvachi shabd), कमल के फूल पर निबंध (Essay About Lotus in Hindi) आदि के बारे में जाने। आशा करता हूँ की दिए गए जानकारी आपको अच्छा लगा है यदि आपको यह जानकारी अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करे।

यह भी जाने: ऑनलाइन वोटर कार्ड को आधार कार्ड से लिंक कैसे करे?
यह भी जाने: NCC Ka Full Form Kya Hai

हमे इतना प्यार देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment