Jasmine Flower in Hindi। चमेली फूल की रोचक जानकारी

Jasmine Flower in Hindi। चमेली फूल की रोचक जानकारी | jasmine in hindi | चमेली का फूल की जानकारी | jasmine hindi | चमेली फूल की जानकारी | chameli ka phool | chameli flower in hindi | jasmine flower hindi name | jasmine flower meaning in hindi

Jasmine Flower in Hindi:- Jasmine flower जिसे हम हिंदी में चमेली का फूल कहते है एक बहुत ही सुंदर और खुशबूदार फूल होता है। चमेली फूल की सुगंध हर किसी को आकर्षित करती है। चमेली का फूल की विशेष खुशबु के कारण इसका इस्तेमाल कई प्रकार के शुगंधित प्रदाथो को बनाने के लिए किया जाता है साथ ही चमेली के पुरे पौधा में काफी मात्रा में औषधीय गुण भी पाया जाता है जिस कारन इसका इस्तेमाल चमेली के फूल, पत्ता, तना, जड़ आदि का इस्तेमाल कोई प्रकार के औषधी को बनाने के किया जाता है। Jasmine flower in hindi के इस आर्टिकल में आज हमलोग jasmine flower यानि चमेली के फूल के बारे में ऐसे कई सारे रोचक जानकारीयों के बारे में जानने वाले है जो शायद अभी तक आपको पता भी नहीं है। साथ  ही इस आर्टिकल में आज हमलोग jasmine flower यानि चमेली फूल के उपयोग और फायदे के बारे में भी जानेंगे।

Jasmine flower meaning in hindi

NameJasmine
हिंदी नामचमेली
संस्कृत नामजातीपुष्पम् या नवमल्लिका
वैज्ञानिक नामजास्मिन ऑफिसिनले (Jasminum officinale)

जैसा की हमने जाना की Jasmine flower को हमलोग हिंदी में चमेली का फूल कहते है यानी Jasmine flower का अर्थ हिंदी में चमेली का फूल होता है जानकी चमेली फूल को संस्कृत में “जातीपुष्पम्” या “नवमल्लिका” कहा जाता है। वही Jasmine flower यानि चमेली के फूल का वैज्ञानिक नाम जास्मिन ऑफिसिनले (Jasminum officinale) है। 

Jasmine Flower in Hindi (चमेली फूल की रोचक जानकारी)

  1. चमेली का फूल एक बहुत ही सुंदर और खुशबूदार फूल होता है। चमेली फूल की सुगंध हर किसी को आकर्षित करती है।
  2. चमेली फूल का पौधा झाड़ी या बेल जाती का एक पौधा होता है जिसमे काफी सारे आयुर्वेदिक गुण पाया जाता है।
  3. चमेली फूल की सुगंध काफी तेज और अच्छी होती है जिस कारन से इसका इस्तेमाल इत्र और परफ्यूम बनाने के लिए किया जाता है।
  4. चमेली का फूल कई रंगों में पाया जाता है पर भारत में यह सामान्यतः सफेद और गुलाबी रंग में पाया जाता है।
  5. चमेली का फूल, जैस्मिनम (Jasminum) प्रजाति के ओलिएसिई (Oleaceae) जाती का एक फूल है।
  6. चमेली फूल सबसे पहले भारत में ही पाया गया था चमेली के फूल की उत्पति हिमालय पर्वत पर माना जाता है।
  7. अरब के मूर लोगों द्वारा चमेली की पौधा को उत्तर अफ्रीका, स्पेन और फ्रांस जैसे देशे तक ले जाया गया और धीरे धीरे यह पौधा पूरी दुनिया में फेल गया।
  8. पूरी दुनिया में चमेली के 200 से भी अधिक प्रजातियां पाई जाती है। 
  9. भारत में चमेली की 40 प्रजातियां और 100 से भी अधिक किस्में पाई जाती है।
  10. चमेली फूल की बेल 18 फीट से लेकर 35 फीट तक बड़ी होती है। वही चमेली के फूल का आकार लगभग 1 इंच होता है।
  11. चमेली की बेल में फूल फरवरी से अक्‍टूबर माह के बीच में आते है पर गर्मियों के मौसम में इसमें ज्यादा फूल खिलते है।
  12. चमेली के पौधे का जीवनकाल लगभग 15 से 20 वर्षो का होता है।
  13. चमेली यानी Jasmine का नाम पारसी शब्द “यासमीन” से लिया गया है जिसका अर्थ “प्रभु की देन” होता है।
  14. दुनिया के कुछ हिस्से में चमेली के फूलों से चाय भी बनाई जाती है।
  15. चमेली का फूल इंडोनेशिया देश का राष्ट्रीय पुष्प है।
  16. चमेली के फूल का इस्तेमाल गजरा बनाने के लिए किया जाता है।
  17. चमेली के फूल को एक शुभ फूल माना जाता है जिसका इस्तेमाल पूजा पाठ में किया जाता है।
  18. चमेली के फूल का इस्तेमाल सजावट में भी काफी मात्रा में इस्तेमाल किया जाता है।
  19. चमेली फूल का रस का इस्तेमाल कई प्रकार के रोगों को ठीक करने के लिए किया जाता है।
  20. चमेली से बहुत सारी दवाइयां भी बनायी जाती हैं, जो सिर दर्द, जुकाम, चक्कर आदि में काम आता है़।
यह भी जाने: Information About Lotus in Hindi

चमेली फूल का उपयोग

  • चमेली फूल का उपयोग पूजा पाठ में किया जाता है।
  • चमेली फूल का उपयोग गजरा बनाने में किया जाता है।
  • चमेली फूल का उपयोग विभिन्न प्रकार के सजावट में किया जाता है।
  • चमेली फूल का उपयोग इत्र और सुगंधित प्रदाथो को बनाने में किया जाता है।
  • चमेली फूल का उपयोग कई प्रकार के औषधीयों को बनाने में किया जाता है।
  • दुनिया के कुछ हिस्से में चमेली के फूल का उपयोग चाय बनाने में भी किया जाता है।

चमेली फूल के फायदे (Benefits of jasmine in hindi)

  • चमेली के फूल से बने इत्र का इस्तेमाल करने से सभी प्रकार के दुर्गंध को समाप्त कर देती है।
  • चमेली से बहुत सारी दवाइयां भी बनायी जाती हैं, जो सिर दर्द, जुकाम, चक्कर आदि में काम आता है़।
  • चमेली के फूल को आँखों के ऊपर रखने से इससे आँखों को शीतलता मिलती है जिससे आँखों का जलन कम होता है।
  • मुँह या होंठो में छाले या सूजन होने से चमेली के पत्ते को चबाने से समस्या ठीक हो जाती है।
  • चमेली के तेल का इस्तेमाल करने से दांत में उत्पर्ण दर्द से राहत मिलता है।
  • दस्त होने की अवस्था में चमेली फूल के रस में घी, अम्ल और नमक मिलकर सेवन करने से दस्त से छुटकारा पाया जा सकता है।
  • चमेली की जड़ तथा कुलथी से बने काढ़े (10-20 मिली) का सेवन करने से मूत्र में उपस्थित शर्करा की मात्रा को कम किया जा सकता है।
  • डिप्रेशन या फिर मानसिक तनाव की स्थिति में रात को थोड़े से चमेली के फूल को अपने तकिए के पास रखना ले इसकी खुशबू डिप्रेशन और मानसिक तनाव को कम करने में सहायक होती है।
यह भी पढ़े: Information about monkey in hindi

चमेली फूल पर निबंध (Essay on jasmine flower in hindi)

चमेली एक बहुत सुंदर फूल होता है जो बहुत खुशबूदार होता है। यह ज्यादातर सफेद रंग में पाया जाता है। इसकी अनेक प्रजातियाँ होती हैं। चमेली के फूल में पाँच पंखुड़ियाँ होती है। यह बेल पर उगने वाला फूल है जो गुच्छे में आता है। चमेली के फूल गर्मियों के मौसम अधिक आते हैं। चमेली के फूल से इत्र, साबुन, तेल आदि बनाए जाते हैं। चमेली के फूल का प्रयोग पूजा पाठ, गजरा बनाने और सजावट में भी किया जाता है। यह ऐसा फूल है जिसकी खुशबू रात में अधिक फैलती है। चमेली के पौधे का हर एक भाग उपयोगी है। इसके फूल, जड़, पत्तियाँ सभी आयुर्वेद में इस्तेमाल की जाती हैं। इस फूल की खुशबू सभी को मनमोहक लगती है। चमेली फूल की सुगंध दिमाग में ताजगी पैदा करती है। पूरी दुनिया में चमेली के 200 से भी अधिक प्रजातियां पाई जाती है। वही भारत में चमेली की 40 प्रजातियां और 100 से भी अधिक किस्में पाई जाती है। चमेली फूल की बेल 18 फीट से लेकर 35 फीट तक लम्बी होती है। वही चमेली के फूल का आकार लगभग 1 इंच तक होता है। चमेली की बेल में फूल फरवरी से अक्‍टूबर माह के बीच में आते है पर गर्मियों के मौसम में इसमें ज्यादा फूल खिलते है। चमेली के पौधे का जीवनकाल लगभग 15 से 20 वर्षो का होता है।

10 वाक्य चमेली के फूल पर (10 lines on jasmine in hindi)

  1. चमेली एक बहुत सुंदर और खुशबूदार फूल होता है।
  2. चमेली के फूल में पाँच पंखुड़ियाँ होती हैं।
  3. चमेली के फूल का प्रयोग सजावट में किया जाता है।
  4. चमेली के फूल से इत्र, तेल, साबुन आदि बनाए जाते हैं।
  5. भारत में यह सामान्यतः सफेद और गुलाबी रंग के चमेली के फूल पाए जाते है।
  6. चमेली की बेल में फूल फरवरी से अक्‍टूबर माह के बीच में आते है।
  7. चमेली के फूल की खुशबू रात में अधिक फैलती है।
  8. चमेली फूल की 200 से भी अधिक प्रजातिया पाई जाती है।
  9. चमेली के पौधे में कई प्रकार के औषधीय गुण पाया जाता है।
  10. चमेली का फूल इंडोनेशिया देश का राष्ट्रीय पुष्प है।
यह भी जाने: बादल का पर्यायवाची शब्द

FAQ on jasmine flower in hindi (चमेली फूल से जुड़ा प्रश्न उत्तर)

प्रश्न- चमेली फूल का वैज्ञानिक नाम क्या है?
उत्तर- चमेली फूल का वैज्ञानिक नाम जास्मिन ऑफिसिनले (Jasminum officinale) है।

प्रश्न- चमेली फूल को संस्कृत में क्या कहते है?
उत्तर- चमेली फूल को संस्कृत में जातीपुष्पम् या नवमल्लिका कहा जाता है।

प्रश्न- चमेली के पौधे पर किस मौसम में फूल लगते हैं?
उत्तर- चमेली के पौधे पर गर्मियों में फूल लगते हैं।

प्रश्न- चमेली के फूल से क्या-क्या बनाए जाते हैं?
उत्तर- चमेली के फूल से इत्र, साबुन, तेल, गजरे आदि बनाए जाते हैं।

प्रश्न- चमेली का फूल किस देश की राष्ट्रीय पुष्प है?
उत्तर- चमेली का फूल इंडोनेशिया देश की राष्ट्रीय पुष्प है।

प्रश्न- चमेली के फूल में कितनी पंखुड़ियाँ होती हैं?
उत्तर- चमेली के फूल में पाँच पंखुड़ियाँ होती हैं।

प्रश्न- पूरी दुनिया में चमेली की कितनी प्रजातियां पाई जाती है?
उत्तर- पूरी दुनिया में चमेली के 200 प्रजातियां पाई जाती है।

प्रश्न- चमेली के फूल की उत्पति कहाँ हुई है?
उत्तर- चमेली के फूल की उत्पति हिमालय पर्वत पर मानी जाती है।

प्रश्न- चमेली का फूल किस रंग के होते हैं?
उत्तर- चमेली का फूल सामान्यतः सफेद और गुलाबी रंग के होते हैं।

यह भी जाने: ई-लर्निंग क्या है? पूरी जानकारी हिंदी में

तो यह रहा Jasmine Flower in Hindi यानि चमेली फूल की रोचक जानकारी के बारे में पूरी जानकारी, आशा करता हूँ की आपको jasmine hindi की यह जानकारी अच्छा लगा होगा, यदि आपको यह अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे।

यह भी जाने: Gmail Account Kaise Banaye Hindi Me

हमारे इस आर्टिकल को अपना प्यार देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment