NCC Ka Full Form Kya Hai | Full Form of NCC in Hindi

ncc ka full form kya hai | full form of ncc in hindi | एनसीसी का फुल फॉर्म क्या है | ncc full form in hindi | n cc full form

NCC Ka Full Form Kya Hai: हेल्लो दोस्तों स्वागत है आपका इस आर्टिकल में, दोस्तों आज हमलोग जानने वाले है की NCC ka full form kya hai यानी full form of NCC in hindi के बारे में, साथ ही हमलोग एनसीसी का फुल फॉर्म क्या है? के साथ साथ एनसीसी के बारे में वह सारी जानकारियों के बारे में भी जानेंगे जो आपके लिए जानना जरुरी है।

तो चलिए NCC के बारे में कोई भी जानकारी प्राप्त करने से पहले हमलोग यह जान लेते है की एनसीसी का फुल फॉर्म क्या है? (what is ncc full form in hindi)

NCC Ka Full Form Kya Hai (Full Form of NCC in Hindi)

NCC Full Form- National Cadet Corps

एनसीसी का फुल फॉर्म हिंदी में- राष्ट्रीय कैडेट कोर

एनसीसी का फुल फॉर्म “National Cadet Corps” (नेशनल कैडेट कॉर्प्स) होता है। वही एनसीसी का फुल फॉर्म हिंदी में राष्ट्रीय कैडेट कोर होता है जिसे राष्ट्रीय सैनिक छात्र दल भी कहा जाता है।

दोस्तों अक्सर कोई movie देखकर या भारतीय सेना का कोई परेड देख के हमारे मन में भी यह चाह उत्पन्न होने लगता है की काश हम भी भारतीय सेना जैसी जीवन जी सके जहाँ हमे भी भारतीय सेना के तौर तरीके के बारे में पता चल सके की वह किस प्रकार रहते है कैसे ट्रेनिंग करते है साथ ही हमे भी भारतीय सेना की तरह मिलिट्री ट्रेनिंग प्राप्त करने का मौका मिले, भारतीय सेना की तरह ही परेड करने का भी मौका मिले।

तो आपको बता दे की यह आप तभी कर सकते है जब आप भारतीय सेना ज्वाइन करेंगे पर दोस्तों आपको बता दे की आप अपने student life में भी अपना यह सपना साकार कर सकते है इसके लिए आपको NCC ज्वाइन करना होगा। NCC ज्वाइन करके आप कुछ दिनों के लिए भारतीय सेना की तरह जीवन जी सकते है।

अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा की ये NCC क्या है? और हम NCC join कैसे कर सकते है? तो दोस्तों आपको बता दे की NCC से जुड़े जितने भी प्रश्न आपके मन में है सारे प्रश्नों का जवाब आपको इस आर्टिकल में मिल जायेंगे। 

तो चलिए अब हमलोग जानते है की NCC kya hai?

एनसीसी क्या है?

NCC ka pura naam नेशनल कैडेट कॉर्प्स यानी राष्ट्रीय कैडेट कोर होता है। एनसीसी यानी राष्ट्रीय कैडेट कोर हमारे देश भारत का एक ऐसा सेन्य संगठन है जो स्कूली छात्र/ छात्राओ को मिलिट्री ट्रेनिंग प्रदान करते है। हमारे देश में एनसीसी कैडेट को Armed Force का Youth Wing कहा जाता है। 

एनसीसी भारत के तीनो सेनाओ थल सेना, नौ सेना और वायु सेना का एक त्रिकोणीय सेवा संगठन है जिसे स्वैच्छिक आधार पर देश के स्कूल और कॉलेज के छात्रों के लिए खोला गया है। यानी सभी स्कूल और कॉलेज के छात्रों को एनसीसी में भाग लेना अनिवार्य नहीं है इसमें छात्र अपने स्वेच्छा से भाग ले सकते है यानी यदि उनका मन है की वह एनसीसी ज्वाइन कर भारतीय सेना से प्रशिक्षण प्राप्त करे तो वह एनसीसी ज्वाइन कर सकते है और यदि उनका मन नहीं है तो ज्वाइन नहीं भी ले सकते है।

एनसीसी के उद्देश्य क्या है?

एनसीसी यानी राष्ट्रीय कैडेट कोर का मुख्य कथन है “एकता और अनुशासन“ यह कथन एनसीसी के मुख्य उद्देश को दर्शाता है। एनसीसी का मुख्य उद्देश्य है देश के स्कूल और कॉलेज के छात्रों में एकता और अनुशासन को कायम करना।

एनसीसी में स्कूल और कॉलेज के छात्रों को भारत के तीनो सेनाओ थल सेना, नौ सेना और वायु सेना से प्रशिक्षण प्राप्त करने का मौका मिलता है जिसमे उन्हें काफी महत्वपूर्ण सेन्य प्रशिक्षण के साथ साथ एकता, अनुशासन, चरित्र, भाईचारा, कर्तव्य जैसे महत्वपूर्ण गुणों को विकसित किया जाता है।

एनसीसी का उद्देश देश के युवाओ के अंदर देश प्रेम और देश भक्ति जैसी भावनाओ को बढ़ाना है और देश के सेवा के लिए भारतीय सेना में भर्ती होने के लिए प्रेरित करना है।

NCC का उद्देश देश के युवाओ के अंदर leadership quality को बढ़ाना है ताकि वह आगे जाकर जिस भी क्षेत्र में अपना करियर बनाए उसमे उन्हें सफलता हासिल हो सके और वह अपना एक सफल करियर बना सके।

एनसीसी का इतिहास

भारत में एनसीसी की स्थापना 16 जुलाई 1948 को राष्ट्रीय कैडेट कोर अधिनियम के द्वारा हुई थी। जिसका मुख्यालय नई दिल्ली में है।

1971 में भारतीय रक्षा अधिनियम के तहत “विश्वविद्यालय कोर” का गठन किया गया था विश्वविद्यालय कोर का गठन सेना की कमी को दूर करने के लिए किया गया था बाद में 1920 में विश्वविद्यालय कोर को विश्वविद्यालय प्रशिक्षण कोर (University Training Corps) में बदल दिया गया था। इसका उद्देश्य था की विश्वविद्यालय प्रशिक्षण कोर की स्थिति को देश में बढ़ाना और युवाओ को इसके प्रति आकर्षित करना था विश्वविद्यालय प्रशिक्षण कोर में कैडेटों को सेना की तरह कपड़े पहनने का मौका दिया गया था। यह आजादी के पूर्व सशस्त्र बलों के भारतीयकरण की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम था।

भारत के स्वतंत्रा के पूर्व ब्रिटिश सरकार द्वारा 1942 में राष्ट्रीय कैडेट कोर का स्थापना किया गया था जिसे विश्वविद्यालय प्रशिक्षण कोर के एक उत्तराधिकारी के रूप में माना जा सकता है।

भारत के स्वतंत्रा के बाद पंडित हेमवती कुंजरू की अध्यक्षता वाली समिति ने एक राष्ट्रीय स्तर पर स्कूलों और कॉलेजों में स्थापित करने के लिए एक कैडेट संगठन की सिफारिश की, इस सिफारिश को तत्कालीन गवर्नर जनरल ने स्वीकार कर लिया और 16 जुलाई 1948 को नेशनल कैडेट कोर पहली बार अस्तित्व में आया था।

1948 में स्कूल और कॉलेज जा रही लड़कियों को समान अवसर देने के लिए एनसीसी में लड़कियां डिवीजन को जोड़ा गया फिर 1952 मे एनसीसी में एयर विंग को जोड़ा गया था।

1962 भारत चीन युद्ध के बाद राष्ट्र की आवश्यकता को पूरा करने के लिए एनसीसी प्रशिक्षण 1963 में अनिवार्य किया गया था फिर 1968 में एनसीसी प्रशिक्षण फिर से स्वैच्छिक कर दिया गया था। 1965 और 1971 के भारत पाकिस्तान युद्ध में एनसीसी कैडेटों ने बहुत ही महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। 

यह पढ़ने योग्य है: ऑनलाइन शिक्षा का महत्व पर निबंध

एनसीसी में क्या सिखाया जाता है?

एनसीसी में भाग लेने वाले स्कूल और कॉलेज के छात्रों को क्लास रूम पाठ्यक्रम के साथ साथ विभिन्न प्रकार के सेन्य प्रशिक्षण प्रदान किए जाते है। इसमें running, long jump, high jump, climbing, yoga, parade कई सारे activity कराए जाते है। साथ ही इसमें कई प्रकार के खेल कूद का भी आयोजन किया जाता है। एनसीसी में एनसीसी कैडेटो को सेन्य रणनीति और सेन्य हथियारों के बारे में भी जानकारी दिया जाता है।

एनसीसी के विभिन्न प्रशिक्षण शिविर

एनसीसी में स्कूल और कॉलेज के छात्रों को भारत के तीनो सेनाओ थल सेना, नौ सेना और वायु सेना से प्रशिक्षण दिलाने के लिये समय समय पर कई सारे प्रशिक्षण शिविर यानि Training Camp का आयोजन किया जाता है। एनसीसी के द्वारा आयोजित किए जाने वाले कुछ मुख्य प्रशिक्षण शिविर यानि Training Camp है। 

संयुक्त वार्षिक प्रशिक्षण शिविर (Combined Annual Training Camp)

एनसीसी के संयुक्त वार्षिक प्रशिक्षण शिविर में एनसीसी इकाई के सीनियर और जूनियर डिवीज़न के लड़के और लडकियों को इस प्रशिक्षण शिविर में भाग लेने का मौका दिया जाता है। संयुक्त वार्षिक प्रशिक्षण शिविर 10 दिनों का प्रशिक्षण शिविर होता है जिसमे दिए गए पाठ्यक्रम के अनुसार कक्षाए संचालित किया जाता है साथ ही इसमें एनसीसी कैडेटो को आपात स्थिति में जीवित रहने के कौशल के बारे में प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है।

राष्ट्रीय एकता शिविर (National Integration Camp)

एनसीसी के राष्ट्रीय एकता शिविर का मुख्य उद्देश्य एनसीसी कैडेटो के बिच एकता को बढ़ावा देना और साथ ही समाज के बीच राष्ट्रीय एकता का प्रचार करना है। 

बेसिक लीडरशिप कैंप (Basic Leadership Camp)

एनसीसी के बेसिक लीडरशिप कैंप का मुख्य उद्देश्य एनसीसी कैडेटो के पर्सनालिटी डेवलपमेंट और लीडरशिप डेवलपमेंट करने का होता है। बेसिक लीडरशिप कैंप में पढाई के साथ साथ सुबह में फिजिकल ट्रेनिंग कराया जाता है साथ ही योगा और परेड भी कराया जाता है। इसके अलावा इसमें group discussion कराया जाता है, stage में बोलने का प्रैक्टिस कराया जाता है। साथ ही इसमें कई प्रकार के खेल कूद और पाठ्यक्रम कराए जाते है।

एडवांस लीडरशिप कैंप (Advance Leadership Camp)

एनसीसी के एडवांस लीडरशिप कैंप में उन्ही एनसीसी कैडेटो को भाग लेने दिया जाता है जो एनसीसी के बेसिक लीडरशिप कैंप में भाग लेके प्रशिक्षण प्राप्त किया हो। या यदि किसी एनसीसी कैडेट ने NCC TSC Camp या NCC RDC Camp में प्रशिक्षण प्राप्त किया हो उसे भी एनसीसी के एडवांस लीडरशिप कैंप में भाग लेने का मौका दिया जाता है। एडवांस लीडरशिप कैंप में बेसिक लीडरशिप कैंप से कुछ एडवांस लेवल में प्रशिक्षण प्रदान किया जाता है। एडवांस लीडरशिप कैंप एक साल में पुरे भारत में विभिन्न स्थानों पर 6 बार आयोजित किया जाता है।

आर्मी अटेचमेंट कैंप (Army Attachment Camp)

आर्मी अटेचमेंट कैंप का आयोजन एनसीसी भारतीय सेना के सहयोग से किया जाता है इस कैंप में 10-15 दिनों के प्रशिक्षण के लिए इक्छुक कैडेट विशिष्ट रेजिमेंट के साथ जुड़ जाते है और इस शिविर में विशिष्ट रेजिमेंट के प्रशिक्षको के द्वारा एनसीसी कैडेटो को सेन्य रणनीति में प्रशिक्षित किया जाता है और विभिन्न प्रकार के सेन्य हथियारों से भी परिचित किया जाता है।

यह भी पढ़ने योग्य है: Electric Car Ke Fayde Aur Nuksan

एनसीसी सर्टिफिकेट की जानकारी

एनसीसी के द्वारा सफलतापूर्वक प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले एनसीसी कैडेटो को NCC Certificate देकर सम्मानित किया जाता है। एनसीसी कैडेटो को ट्रेनिंग पूरा करने के बाद तीन प्रकार की एनसीसी सर्टिफिकेट दिया जाया है।

  • NCC ‘A’ Certificate
  • NCC ‘B’ Certificate
  • NCC ‘C’ Certificate

NCC ‘A’ Certificate

NCC ‘A’ Certificate जूनियर एनसीसी कैडेटो को दिया जाता है यानी जो NCC Junior Division/Wing की ट्रेनिंग प्राप्त किया हो साथ ही जो एनसीसी के पहले और दूसरे वर्ष के पाठ्यक्रम में निर्धारित कुल प्रशिक्षण अवधि में से कम से कम 75% में भाग लिया हो।

एनसीसी कैडेट के द्वारा भाग लिय पहले और दूसरे वर्ष के पाठ्यक्रम के बीच का अंतर 12 महीनो से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

साथ ही एनसीसी कैडेट को एनसीसी के एक वार्षिक प्रशिक्षण शिविर में भाग लिया होना चाहिए।

NCC ‘B’ Certificate

NCC ‘B’ Certificate सीनियर एनसीसी कैडेटो को दिया जाता है यानी जो NCC Junior Division/Wing की ट्रेनिंग पहले पूरा करने के बाद NCC Senior Division/Wing की ट्रेनिंग प्राप्त किया हो साथ ही जो एनसीसी के पहले और दूसरे वर्ष के पाठ्यक्रम में निर्धारित कुल प्रशिक्षण अवधि में से कम से कम 75% में भाग लिया हो।

एनसीसी कैडेट के द्वारा भाग लिय पहले और दूसरे वर्ष के पाठ्यक्रम के बीच का अंतर 18 महीनो से ज्यादा नहीं होना चाहिए।

साथ ही एनसीसी कैडेट को एनसीसी के एक वार्षिक प्रशिक्षण शिविर में Army/Navy/Air Force के साथ भाग लिया होना चाहिए।

NCC ‘C’ Certificate

NCC ‘C’ Certificate एनसीसी प्रशिक्षण का सबसे मुख्य सर्टिफिकेट होता है। NCC ‘C’ Certificate उन्ही एनसीसी कैडेट को दिया जाता है जो पहले से ही NCC ‘B’ Certificate प्राप्त कर चूका हो।

एनसीसी कैडेट सीनियर डिवीजन/सीनियर विंग के तीसरे वर्ष के प्रशिक्षण में होना चाहिए।

एनसीसी कैडेट सीनियर डिवीजन/सीनियर विंग के तीसरे वर्ष के प्रशिक्षण में कम से कम 75% में भाग लिया हो।

साथ ही निचे दिए गए एनसीसी कार्यक्रम में से किसी एक में भाग लिया होना चाहिए।

  • Republic Day Camp at Delhi (RDC)
  • Annual Training Camp (This is in addition to one mentioned above)
  • Para Training Camp (PTC)
  • National Integration Camp (NIC) (When applicable for SD/ SW Cadets)
  • Centrally Organized Camp (COC). Ordered by HQ DGNCC Para Training Camp (PTC)
  • All India Trekking Expedition (HQ DGNCC Organized)
  • All India Mountaineering Expedition (HQ DGNCC Organized) आदि
यह भी पढ़ने योग्य है: वजन कम करने के उपाय

एनसीसी के फायदे

आजकल लोग शिक्षा प्राप्त करने के साथ साथ डॉक्टर व इंजीनियर बनने के लिए समय समय पे विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण प्राप्त करते है इसी प्रकार राष्ट्रीय कैडेट कोर यानी एनसीसी के द्वारा वैसे छात्रों को सेन्य प्रशिक्षण दिया जाता है जो एक सैनिक जीवन जीने का सपना रखते है और आगे जाके भारत के तीनों सेना यानी थल सेना, नौ सेना या वायू सेना में से किसी एक मे भर्ती होकर देश की सेवा करने का ख्वाब रखता हो।

आपको बता दे यह जरूरी नही कि एनसीसी से प्रशिक्षण प्राप्त करने वाला हर कोई भारतीय सेना जॉइन करता है या भारतीय सेना जॉइन करने का ख़्वाब रखता हो। एनसीसी में बहुत ही महत्वपूर्ण प्रशिक्षण दिया जाता है जो एक स्टूडेंट्स को जो चाहे किसी भी क्षेत्र में अपना करियर बनाए उसे एनसीसी के द्वारा दिया गया प्रशिक्षण पूरा जीवन भर काम आता है। 

एनसीसी से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद इसमें तीन प्रकार के सर्टिफिकेट दिया जाता है जिसके बारे में पूरी जानकारी हमलोग ऊपर जाने। फिर उस सर्टिफिकेट के आधार पर आपको इसमें फायदे मिलते है। एनसीसी से प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद इसमें कई सारे फायदे होते है जैसे

  • एनसीसी में छात्रो को basic से advance level की सेन्य अभ्यास कराए जाते है साथ ही सेन्य रणनीति और सेन्य हथियारों के बारे में भी काफी गहरी जानकारी दिया जाता है जिससे आप अपने को परख सकते है की आपको भारतीय सेना में अपना करियर बनाना चाहिए की नहीं यानी आपको भारतीय सेना में भर्ती होना चाहिए या नहीं।
  • एनसीसी ट्रेनिंग पूरा करने के बाद यदि आप भारतीय सेना ज्वाइन करना चाहे तो इसमें आपको काफी फायदे होते है आपको एग्जाम में मार्क्स के cut off के साथ साथ physical में भी काफी छुट दिए जाते है।
  • एनसीसी में कैडेट को पैराग्लाइडिंग, डिसास्टर मैनेजमेंट, प्राथमिक चिकित्सा (First Aid) जैसी कई सारे महत्वपूर्ण चीजो के बारे में जानकारी के साथ साथ ट्रेनिंग दिया जाता है जो कि अपातकालीन परिस्थितियों में काफी काम आते है।
  • एनसीसी में कैडेट को physical training यानी शारीरिक प्रशिक्षण के साथ ही कई सारे प्रकार के शिक्षा प्रदान किए जाते है जैसे, नेतृत्व की योग्यता विकशित करना, आत्मविश्वास बढ़ाना, सम्मान की भावना उत्पन्न करना, संचार कौशल विकसित करना और सबसे महत्वपूर्ण Armed Forces के बारे में जानकारी प्रदान करना। ये सभी गतिविधियों के कारण एक एनसीसी कैडेट मानसिक और शारीरिक रूप से काफी मजबूत हो जाते है।
  • एनसीसी ट्रेनिंग पूरा करने के बाद यदि आप कोई डिग्री कॉलेज में कोर्स के एडमिशन लेना चाहे और कम मार्क्स के कारण यदि किसी प्रकार का दिक्कत तब भी आपको इसमें कुछ छुट दिए जाते है।

एनसीसी ज्वाइन कैसे करे?

जैसे की एनसीसी के स्कूल और कॉलेज के छात्रो को मिलिट्री ट्रेनिंग दिया जाता है और इसके लिए एनसीसी के द्वारा समय समय पर स्कूल और कॉलेज में भर्ती कैंप का आयोजन करते है आप उस भर्ती कैंप के द्वारा एनसीसी ज्वाइन कर सकते है। इसके अलावा सभी जिले में 1-2 स्कूल या कॉलेज ऐसे होते है जहाँ से आप जब चाहे तब एनसीसी ज्वाइन कर सकते है। इस विषय में आप अपने प्रिंसिपल से जानकारी प्राप्त कर सकते है। 

तो दोस्तों यहाँ रहा NCC Ka Full Form Kya Hai (Full Form of NCC in Hindi) के साथ NCC Kya Hai Ki Jankari Hindi, दोस्तों आशा करता हूँ की एनसीसी का फुल फॉर्म क्या है से जुड़ी दी गई जानकारी आपको अच्छा लगा और आपके मन में NCC से जुड़े जितने भी सवाल थे सारे सवालों का जवाब आपको मिल गया होगा।

NCC Full Form क्या है?

NCC Full Form “National Cadet Corps” होता है।

एनसीसी का फुल फॉर्म क्या है? हिंदी में

एनसीसी का फुल फॉर्म हिंदी में “राष्ट्रीय कैडेट कोर” होता है।

एनसीसी का पूरा नाम क्या है?

एनसीसी का पूरा नाम “नेशनल कैडेट कॉर्प्स” होता है जिसे हिंदी में “राष्ट्रीय कैडेट कोर” कहा जाता है।

इसके अलावा भी यदि आपके मन में n cc full form या ncc in hindi से जुड़ा किसी भी प्रकार का प्रश्न हो तो आप वह हमसे कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है में आपके सभी प्रश्नों का जवाब देने का पूरा कोशिश करूँगा।

हमारे साथ जुड़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment