Din Ka Paryayvachi Shabd | दिन का पर्यायवाची शब्द

Din ka paryayvachi shabd | दिन का पर्यायवाची शब्द | din का पर्यायवाची शब्द | din ka samanarthi shabd

Din Ka Paryayvachi Shabd के लेख में आज हमलोग दिन का पर्यायवाची शब्द के बारे में जानने वाले है। यानि यदि आप din ka samanarthi shabd यानि din ke paryayvachi shabd के बारे में जानने वाले है तो आप बिलकुल सही आर्टिकल पे आए है इसमें आपको दिन का सभी पर्यायवाची शब्द के बारे में जानकारी मिलने वाला है।

Din Ka Paryayvachi Shabd (दिन का पर्यायवाची शब्द)

दिवसदिवातिथिवासरवारअह्नप्रमानयामरोजकाल
DivasDivaTithiVaasarVaarAhnPramaanYaamRozKaal

दिन का पर्यायवाची शब्द हिंदी में 

दिवस, दिवा, तिथि, वासर, वार, अह्न, प्रमान, याम, रोज, काल

Din ka paryayvachi shabd english mein

Daylight, Sunshine, Nautical Day, Daytime, Light, Bright, Sunlight, Astronomical Day, Light of Day, Early Bright

यह भी पढ़े: आकाश का पर्यायवाची शब्द

दिन से जुड़ा कुछ रोचक तथ्य

  • जैसा की हमे पता है पृथ्वी अपने अक्ष पे घुमने के साथ साथ सूर्य के चारो ओर चक्कर लगते है।
  • पृथ्वी के द्वारा अपने अक्ष पे घुमने के कारण दिन-रात होते है वही पृथ्वी के द्वारा सूर्य के चारो ओर चक्कर लगाने के कारण साल बदलते है।
  • एक समय में पृथ्वी के आधे हिस्से में सूर्य की रोशनी पढ़ती है और बाकि आधे हिस्से तक सूर्य की रोशनी नहीं पहुँच पाती है।
  • पृथ्वी के जिस आधे हिस्से में सूर्य की रोशनी पढ़ती है वहाँ दिन होता है वही पृथ्वी के जिस आधे हिस्से में सूर्य की रोशनी नहीं पढ़ती है वहाँ रात होता है।
  • 21 जून को साल का सबसे बड़ा दिन होता है। 
  • 23 दिसंबर को साल का सबसे छोटा दिन होता है।
  • 21 मार्च को दिन और रात बराबर होते हैं।
यह भी पढ़े: चंद का पर्यायवाची शब्द

दिन रात कैसे होता है?

क्या कभी आपने ऐसा सोचा है दिन रात कैसे होता है? दिन के बाद रात और रात के बाद दिन क्यों होता है? आपको बता दे की दिन और रात केवल पृथ्वी के गति के कारण होता है। पृथ्वी अपनी धुरी पर घूमती है। पृथ्वी के अपनी धुरी पर घूमने के कारन पृथ्वी के आधे हिस्से पर सूर्य का प्रकाश पड़ता है वही बाकि आधे हिस्से तक सूर्य का प्रकाश नहीं पहुँच पाता है। पृथ्वी के जिन आधे स्थानों पर सूर्य का प्रकाश पड़ता है वहां दिन होता और जिन आधे स्थानों परसूर्य का प्रकाश नहीं पहुंच पाता है वहां रात होती है। हमारी पृथ्वी लड्डू की तरह अपने कक्ष पर घूमती है। जिसे हम पृथ्वी का परिभ्रमण कहते हैं। पृथ्वी के एक परिभ्रमण काल 24 घंटे का होता है। इसमें पृथ्वी के धरातल का आधा भाग सूर्य के सामने से होकर गुजरता है जिससे सूर्य का प्रकाश पृथ्वी के आधे हिस्से पर पड़ता है जिससे पृथ्वी के उस आधे हिस्से में दिन होता है। वही पृथ्वी का आधा हिस्सा जो सूर्य के पीछे के साइड में रह जाता है यह आधा भाग अंधेरे में रहने के कारण वहां पर रात होती है। पृथ्वी के परिभ्रमण के कारन आधे समय के लिए दिन रहता है और आधे समय के लिए रात रहता है और यही प्रक्रिया लगातार चलते रहता है। और इस प्रकार रात के बाद दिन और दिन के बाद रात होता है।

यह भी पढ़े: बादल का पर्यायवाची शब्द

दिन रात छोटे बड़े क्यों होते हैं?

हालांकि दिन और रात का छोटा बड़ा होना कुछ ही घंटों का होता है। लेकिन धरती के कुछ ऐसे भी क्षेत्र हैं जहां यह चक्र बिल्कुल ही अलग है। धरती के कुछ क्षेत्र में कई कई दिनों तक सूर्य डूबता ही नहीं है यहां दिन काफी लंबी हो जाती है।  पृथ्वी केवल अपनी धुरी पर ही नहीं घूमती बल्कि अपनी कक्ष में सूर्य का भी चक्कर लगाती है। वैसे तो पृथ्वी के एक परिभ्रमण काल 24 घंटे का होता है मगर ऐसा नहीं होता कि दिन 12 घंटे का और रात 12 घंटे का होती है।  ऐसा इसलिए नहीं होता है क्योंकि पृथ्वी अपने कक्ष पर झुकी हुई है। यदि पृथ्वी अपने अक्ष पर झुकी हुई न होती तो दिन और रात बराबर होते। पृथ्वी का कक्षीय सतह पर झुका होना दिन और रात का छोटे बड़े होने का प्रमुख कारण है। परन्तु विषुवत रेखा ( भुमध्य रेखा ) पर दिन और रात की लम्बाई में कोई अन्तर नहीं पाया जाता अत : विषुवत रेखा पर सदैव दिन और रात बराबर होते हैं।

यह भी पढ़े: Slogan About Environment in Hindi

FAQ on din ka paryayvachi shabd (दिन का पर्यायवाची शब्द से जुड़ा प्रश्न उत्तर)

दिन का पर्यायवाची शब्द क्या है?

दिन का पर्यायवाची शब्द- दिवस, दिवा,  वासर, वार, अह्न, दिवा, प्रमान, याम, रोज़, काल।

10 दिन का पर्यायवाची शब्द लिखे?

दिवस, दिवा, तिथि, वासर, वार, अह्न, प्रमान, याम, रोज, काल।

यह भी पढ़े: शरीर के अंगों के नाम

तो यह रहा Din Ka Paryayvachi Shabd के बारे में जानकारी, आशा करता हूँ की आपको दिन का पर्यायवाची शब्द का यह जानकारी अच्छा लगा होगा। यदि आपको यह जानकारी अच्छा लगा है तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करना बिलकुल ना भूले।

Din Ka Paryayvachi Shabd के इस लेख को अपना प्यार देने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद।

Leave a Comment