EWS Full Form in Hindi | ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म और पूरी जानकारी

ews meaning in hindi, ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म, ews ka full form, ews meaning in hindi

हेल्लो दोस्तों स्वागत है आपका इस आर्टिकल में, दोस्तों आज हमलोग बात करने वाले है ews full form in hindi के बारे में, दोस्तों EWS स्वर्ण जाती यानी general category के लोगो के लिए कोई वरदान से कम नहीं है स्वर्ण जाती के लोगो ने कभी सपना में भी नहीं सोचा होगा की उन्हें भी कभी आरक्षण दिया जाएगा पर 2019 में नरेन्द्र मोदी सरकार ने एक ऐतिहासिक फेसला लेते हुए स्वर्ण जाती यानी general category के लोगो के लिए भी आरक्षण की व्यवस्था कर दिए।

ऐसे में सभी के मन में एक सवाल जरुर आता होगा की ये EWS ka full form क्या है तो आपको बता दे की इस आर्टिकल में हमलोग EWS से जुड़ा वह सारी जानकारियों के बारे में जानने वाले है जिसके लिए आप इस आर्टिकल में आए है।

तो चलिए EWS से जुड़ी कोई भी जानकारी जानने से पहले हमलोग यह जान लेते है की EWS का फुल फॉर्म क्या है?

EWS Full Form in Hindi

EWS full form: Economically Weaker Section

ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म की बात करे तो EWS ka full form “Economically Weaker Section” होता है।

ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म हिंदी में

ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म हिंदी में: आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग

जैसे की हमने जाना की ews certificate full form Economically Weaker Section होता है वही ews full form in hindi यानी ews meaning in hindi की बात करे तो ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म हिंदी में “आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग” होता है।

दोस्तों e w s full form in hindi के अलावा भी EWS से जुड़ी ऐसे बहुत सारे जानकारियां है जिसके बारे में जानकारी होना आपके लिए काफी महत्वपूर्ण है तो चलिए आज इस आर्टिकल में हमलोग EWS से जुड़ी वह सारी जानकारियों के बारे में जानते है।

तो चलिए अब जानते है की EWS kya hai?

ईडब्ल्यूएस क्या है? (EWS in Hindi)

ईडब्ल्यूएस का पूरा नाम यानी फुल फॉर्म Economically Weaker Section होता है जिसका हिंदी में अर्थ आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग होता है। EWS एक प्रकार का प्रमाणपत्र है जिसके द्वारा general category यानी स्वर्ण जाती के economically weaker section यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगो को शिक्षा और नौकरी के क्षेत्र में 10% आरक्षण दिया गया है।

दोस्तों भारत के आजादी के बाद से ही एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के लोगो के लिए आरक्षण की व्यवस्था जाती के आधार पे की गई है लेकिन समय समय पे आरक्षण जाती के आधार पे ना देकर आर्थिक स्थिति के आधार पे देने की मांग उठते रहती थी क्यूंकि general category यानी स्वर्ण जाती में भी ऐसे बहुत सारे परिवार है जिनकी आर्थिक स्थिति ख़राब है जिन्हें आरक्षण की जरुरत सही मायने में है पर वह स्वर्ण जाती के होने के कारन उन्हें कभी आरक्षण का लाभ नहीं दिया गया।

वही एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग में बहुत सारे ऐसे भी परिवार है जिनकी आर्थिक स्थिति काफी अच्छा है उन्हें आरक्षण की कोई जरुरत नहीं है फिर भी उस जाती वर्ग के होने के कारन उन्हें आरक्षण दिया जाता है।

2019 में मोदी सरकार ने यही सब को ध्यान में रखकर आरक्षण में EWS को जोड़ा जिसके तहत अब general category यानी स्वर्ण जाती के EWS economically weaker section यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगो को शिक्षा और नौकरी के क्षेत्र में 10% आरक्षण दिया गया है।

क्या आप जानते है: NDA Ka Full Form Kya Hai

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के फायदे

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के फायदे की बात करे तो आरक्षण में ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के लागू होने से general category यानी स्वर्ण जाती के economically weaker section यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगो को काफी ज्यादा फायदा हिने वाला है।

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के द्वारा General category यानी स्वर्ण जाती के economically weaker section यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग को भी 10% का आरक्षण दिया गया है।

General category यानी स्वर्ण जाती के economically weaker section यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोग भी अब एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के लोगो की तरह शिक्षा और नौकरी के क्षेत्र में 10% का reservation यानी आरक्षण दिया गया है जिससे अब उन्हें शिक्षा ग्रहण करने यानी किसी कॉलेज में एडमिशन लेने में आसानी होगी साथ ही नौकरी लेने में भी पहले के मुकाबले आसानी होगी।

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के लिए योग्यता

EWS प्रमाण पत्र के लिए योग्यता यानी ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट कौन कौन बनवा सकता है और ईडब्ल्यूएस के द्वारा शिक्षा और नौकरी के क्षेत्र में आरक्षण ले सकता है की बात करे तो इसके लिए सरकार की और से कुछ rules and regulations बनाए गए है।

जैसा की EWS ka full form economically weaker section यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग से ही पता चल रहा है की EWS के द्वारा आरक्षण केवल उन्हें ही दिया जाएगा जो स्वर्ण जाती के आर्थिक रूप से कमजोर होंगे।

सबसे पहले बात करे की ईडब्ल्यूएस के द्वारा किन्हें आरक्षण नहीं दिया जाएगा की तो 

  • ऐसे परिवार जिनके पास 5 एकड़ या इससे अधिक जमीन है।
  • यहाँ परिवार रहते है वह जमीन 1000 वर्ग फुट या उससे अधिक है।
  • यदि परिवार अधिसूचित नगर पालिकाओ में रहते हैं और उनकी आवासीय जगह 100 वर्ग गज या उससे अधिक है।
  • साथ ही यदि परिवार के पास के घर के अलावा 200 वर्ग फीट का प्लाट या उससे अधिक का कोई प्लाट है।

तो ऐसे स्थिति में ईडब्ल्यूएस के द्वारा परिवार को आरक्षण नहीं दिया जाएगा।

सबसे पहले बात करे की ईडब्ल्यूएस के द्वारा किन्हें आरक्षण दिया जाएगा की तो

  • ऐसे परिवार जिनके पास 5 एकड़ या इससे कम जमीन है।
  • यहाँ परिवार रहते है वह जमीन 1000 वर्ग फुट या उससे कम है।
  • यदि परिवार अधिसूचित नगर पालिकाओ में रहते हैं और उनकी आवासीय जगह 100 वर्ग गज या उससे कम है।
  • साथ ही यदि परिवार के पास के घर के अलावा 200 वर्ग फीट का प्लाट या उससे कम का कोई प्लाट है।

तो ऐसे स्थिति में ईडब्ल्यूएस के द्वारा परिवार को आरक्षण दिया जाएगा।

क्या आपको पता है: NCC Ka Full Form Kya Hai

भारत में वर्तमान में आरक्षण की व्यवस्था

वर्तमान में भारत में आरक्षण व्यवस्था की बात करें तो इसमें अनुसूचित जाति यानी Scheduled Caste के लिए 7.5%, अनुसूचित जनजाति यानी Scheduled Tribe के लिए 15%, अन्य पिछड़ा वर्ग यानी Other Backward Classes के लिए 27% तथा अब आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग यानी Economically Weaker Section के लिए 10% की आरक्षण की व्यवस्था की गई है यानी वर्तमान में भारत में कुल 59.50% की आरक्षण की व्यवस्था की गई है।

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के उद्देश्य

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट लागू करने यानी ईडब्ल्यूएस के द्वारा आरक्षण देने का उद्देश एक ही है की स्वर्ण जाती के आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग को भी आरक्षण का लाभ मिल सके।

भारत में आजादी के बाद से आरक्षण की व्यवस्था है जिसमे जाती के आधार पे काफी सारे वर्गो को कई क्षेत्रों में कोई प्रकार से आरक्षण दिया जाता आ रहा है। लेकिन समय समय पे अन्य वर्ग समुदाय जिन्हें आरक्षण का लाभ नहीं मिल पता है वे इस आरक्षण को समाप्त करने का मांग उठाते रहते है वही कुछ वर्ग समुदाय का कहना है की यदि आरक्षण दिया भी जाए तो वह जाती के आधार पे ना देकर आर्थिक आधार पे देना चाहिए।

ऐसा मांग इसलिए उठ रहा है क्यूंकि जाती के आधार पे आरक्षण मिलने से जिन्हें आरक्षण की जरुरत सच में है उन्हें आरक्षण नहीं मिल पा रहा है वही जिन्हें आरक्षण की जरुरत नहीं है वह भी आरक्षण का फायदा उठा रहे है। हमे समय में ऐसे बहुत सारे परिवार देखने को मिलते होंगे जिनका आर्थिक स्थिति काफी ख़राब है जिन्हें आरक्षण की जरुरत सच में है पर वह स्वर्ण जाती के होने के कारन उन्हें कोई आरक्षण नहीं मिल पा रहा है वही ऐसे भी बहुत सारे परिवार है जिनकी आर्थिक स्थिति काफी अच्छी है जिन्हें आरक्षण का जरुरत बिलकुल भी नहीं है पर जाती के कारन वह भी आरक्षण का लाभ उठा रहे है।

यह भी जानने योग्य है: Coding Kya Hai | Coding Kaise Sikhe पूरी जानकारी हिंदी में

भारत के पिछले किसी भी सरकार ने आरक्षण पे उठ रहे बातो पे कोई खास ध्यान नहीं दिया पर 2019 में मोदी सरकार ने स्वर्ण जाती के आर्थिक स्थिति से कमजोर लोगो को भी आरक्षण देने का निर्णय लिया और उन्हें 10% की आरक्षण दिया गया ताकि जिन्हें पहले स्वर्ण जाती के होने के कारन आरक्षण का फायदा नहीं मिल पा रहा था उन आर्थिक रूप से कमजोर स्वर्ण जाती के लोगो को भी आरक्षण का लाभ मिल सके और वे भी शिक्षा और नौकरी के क्षेत्र में आगे बढ़ सके।

ईडब्ल्यूएस सर्टिफिकेट के लिए ऑनलाइन आवेदन आप serviceplus के वेबसाइट से कर सकते है।

EWS ka full form क्या होता है?

EWS ka full form Economically Weaker Section होता है।

ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म हिंदी में क्या होता है?

ईडब्ल्यूएस फुल फॉर्म हिंदी में आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग होता है।

EWS certificate क्या है?

EWS certificate के द्वारा स्वर्ण जाती यानी general category के Economically Weaker Section यानी आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लोगो को शिक्षा और नौकरी के क्षेत्र में 10% आरक्षण दिया गया है।

EWS के द्वारा कितना आरक्षण दिया गया है?

EWS के द्वारा 10% आरक्षण दिया गया है।

तो दोस्तों यह रहा ews full form in hindi के बारे में पूरी जानकारी जिसमे हमने full form of ews in hindi के साथ साथ EWS से जुड़ी वह सारी जानकारियो के बारे में जाने जिसकी आपको तलाश थी। इसके अलावा भी यदि आपके मन में EWS certificate in hindi से जुड़ा किसी भी प्रकार का प्रश्न हो तो वह कमेंट के द्वारा हमसे पूछ सकते है हम पूरा कोशिश करेंगे की आपके सारे प्रश्नों का उत्तर दे सकू।

हमारे साथ जुड़ने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यबाद।

Leave a Comment